Hostar Radha Krishn Serial 19 August full Episode

 Hostar Radha Krishn Serial  18 August full Episode


Star Bharat Radha krishn episode : 19 August, 
2020. Radha Krishn - Krishn-Arjun    Gatha , Arjun Seeks Out Krishna S2 - E28 - 19 Aug episode in Hindi.



Star bharat radha krishna  Arjun Seeks Out Krishna S2 - E28 - 19 Aug episode in hindi on radha krishna serial website.  radha krishna serial related radha krishna serial songs download radha krishna status in hindi and gujarati on radha Krishna serial website.




Hello guys, very Good morning all of you and radhe radhe. स्वागत हैं हमारी website radha krishna serial. जैसा की आपने title देखते पता चल गया है की what a we going to talk about क्या होने वाला है radha krishna serial के Arjun Seeks Out Krishna S2 - E28 - 19 Aug episode मे तो चलीये शुरु करते है.


आज के episode मे दीखाया जायेगा की पूरा हस्तिनापुर विश्राम कर रहा होता है. लेकिन भगवान श्री  Krishna  रात मे विश्राम नहीं कर रहे होते हैं.  Krishna  चंद्रमा की ओर देख रहे होते है.


तभी वहा शकुनि आ जाता है. और शकुनि सोचता है कि पूरा हस्तिनापुर अभी सोच रहा है कि  Krishna  का क्या निर्णय होगा लेकिन यह  Krishna  क्या कर रहा है. तब  Krishna  कहते हैं कि शकुनी मामा पधारी आपका स्वागत है.


तब शकुनि चोक जाता है ओर कहता है की आपको पता था की मे यहा आने वाला हु? फिर शकुनि नाटक करता है की आप तो सब जानते है. फिर  Krishna  कहते है की मेने सुना है की आपको भेज मे कोई नही हरा सकता. इसके सारे पासे आपकी बात मानते है.  Krishna  कहते है की क्या मेरे साथ खेल खेलेगे?


तब शकुनि मान जाता है. खेल खेलने से पहले शकुनि कहता है की आपको दाव मे कुछ लगना होगा. तब तक खेल मे मजा नही आयेगा. तब  Krishna  कहते है की दाव मे आप जो पुछने केलिए यहा आये है उसका उत्तर मे दुगा.


शकुनि खुश हो जाता है ओर खेल शुरु करता है.  Krishna  पासे फेकते है फिर शकुनि अपनी कुटिल चाल से  Krishna  के पासे को हरा देते है. पासे को हरा कर शकुनि कहता है की कोरंवो ओर पाडंवो मेरे पुत्रो है. मे दोनो की हीत के बारे मे सोचता हू. मेरे विचार से आपको दुर्योधन के पक्ष मे अपना मत देना चाहिए.

Radha Krishn : Krishna - Arjun Gatha 19 August Episode


क्योकी दुर्योधन महाराज का पुत्र है ओर पुत्र मोह मे आकर वह आपकी बात नही मेनेगे इससे आपका घोर अपमान होगा सभंव है की युद्ध भी हो जाये ओर आप युद्ध के विरुद्ध है. इसलिए मे चाहता हु की आप दुर्योधन के पक्ष मे अपना मत देय.


फिर  Krishna  अपनी चाल लेते तब  Krishna  अपनी लिला से पासे शकुनि को छोडकर  Krishna  की बात मानते है. जिससे  Krishna  शकुनि के पासे को हरा देते है. तब  Krishna  कहते है की पासे को हरा कर मे बोलता हु की.


नाही मे पाडवो के पक्ष मे हु ओर नाही मे कौरंवो के पक्ष मे मुझे हस्तिनापुर से कुछ लेना देना नही है. मे केवल घर्म के पक्ष मे हु. शकुनि फिर क्रोघ मे पासे फेकता है किन्तु वह पासे उसके विरुद्ध जाते है. तब शकुनि चोक जाता है.

 Krishna  कहते है की यह खेल निपक्ष हो गया. इसलिए मे आपको उत्तर भी आधा ही दुगा.  Krishna  कहते है की आपने जो भी कहा वह मे नही करुगा. तब शकुनि कहता है की अर्थात आप पाडंवो को मत देगे?  Krishna  कहते है की मे वो भी नही करुगा.

शकुनि पुछता है की तो आप क्या करेगे?  Krishna  कहते है की आप जिते नही इसलिए मे आपको पुर्ण सत्य नही बताऊगा.


अगले दीन सुबह सभी पाडंवो तैयार हो जाते है. तब कुंती सबसे पुछती है की सबने अपना मत तुन लिया है? तब युधिष्ठिर कहता है की मेने ओर भीम ने अपना मत चुन लिया है.


अर्जुन से जब पुछते है तो अर्जुन कहता है की मेने भी सोच लिया है किन्तु मे ऐकबार माघव से मार्गदर्शक लेना चाहता हु. किन्तु माघव कल रात से मुझे मिले नही.


दुसरी ओर वन मे दुर्योधन खरगोश का शिकार करने वेला होता है उसी बीच  Krishna  वहा आ जाते है ओर कगते है की तुम यह क्या कर रहे हो? तुम तो यहा सिह का भेद करने आये थे.फिर तुम यह क्या कर रहे हो.

Star Bharat Radha Krishna Serial 19 August Full episode


तब दुर्योधन कहता है की आप मेरी छोडीये आप यहा क्या कर रहे है. मुझे लगा था की आप पाडंवो को मार्गदर्शक दे रहे होगे. तब  Krishna  कहते है की मे भी तुम्हारी तरह निर्दोष हु. मै भी चाहता हु की मेरी वजह से किसी को आपत्ति नही आये.


दुर्योधन कहता कहता है की मुझे लगा था की आप पाडंवो पर चुनवा का मत देगे. किन्तु मुझे तो कुछ ओर ही दीखाई देता है. तब  Krishna  कहते है की यह तो तुम ओर शकुनि भुल कर रहे हो. जो मे दीखता हु वो मे हु नही ओर जो मे हु वह मे दीखता नही.


फिर  Krishna  कहते है की चलो साथ मे मिलकर सिह का भेद करते है. तब दोनो साथ मे वन मे जाते है.


दुसरी ओर दीखाया जाता है की शकुनि सोच रहा होता है की हमे दुर्योधन को सही समय पर लाना है. नाही हमे उसे जल्दी लाना है ओर नाही उसे अंत मे. तब दुर्योधन का भाई कहता है की इसमे समस्या क्या है? शकुनि कहता है की दुर्योधन मे धीरज नही है.


उससे समय समय पर मत के बारे मे सुचित करते रहेना. यह चुनाव हमे किसी भी तरह से जितना है. इसमे हमे दुर्योधन के आसु की आवश्यकता भी पडेगी.


इधर से राज्य मे सभा आरंभ होती है. तब धृतराष्ट्र आरंभ करने से पहले द्रोपदी का स्वागत करते है फिर सभा आरंभ करते है. तब अर्जुन कहता है की आरंभ करने से पहले अभी माघव नही आये है. हमे माघव की प्रतिक्षा करनी चाहीये.


तब शकुनि षडयंत्र रचकर कहता है की यदी हम दुर्योधन के बिना सभा आरंभ कर सकते है तो  Krishna  के बिना क्यो नही. यदी  Krishna  को कुछ कहना होता तो वह अब तक आ गये होते. धृतराष्ट्र शकुनि की बात मान जाता है ओर सभा आरंभ करते है.


पहला मत धृतराष्ट्र युधिष्ठिर से पछते है तो युधिष्ठिर कहता है की राज्य के दो भाग किया जाये. यह सुनकर धृतराष्ट्र क्रोधित हो जाता है की यह तुम क्या कह रहे हो. इस राज्य के दो भाग नही हो सकते. तब पितामह कहते है की पहले अन्य पाडवो की बात सुन लेते है.


फिर भीम से पुछते है तो भीम कहता है की मुझे यह दो भाग के बारे मे पता नही. मेरा मत है की आप मेरी गदा ओर दुर्योधन गदा के साथ ओर अर्जुन ओर कर्ण के बिच एक युद्ध करायें.जो जिता वह राजा बनेगा.


तब गांधारी कहती है की हम दो भाईयो के बीच युद्ध नही करवा सकते. फिर नकुल ओर सहदेव से पुछते है तो वह भी दो भाग करने मे अपना मत रखते है. उसके बाद धृतराष्ट्र द्रोपदी से पुछता है तो द्रोपदी कहती है की मे भी राज्य के दो भाग करने के मत मे हु.

उसके बाद धृतराष्ट्र अर्जुन से पुछता है. तब अर्जुन कुछ नही बोलता ओर चिंतित हो जाता है. ओर सोचता है की मे माघव के मार्गदर्शक के बिना कैसे बोल सकता हु. तब  Krishna  कहते है की यही सही समय है तुम्हे अपने हक केलिए अपना निर्णय देना चाहीए. ओर आज का episode यही पे खत्म होता है.

Radhey Krishna : Krishn - Arjun gatha 19 august episode


कल के एपिसोड की स्टोरी में दिखाया जाता है कि कर्ण कहता है की यदी भीम चाहता है की अर्जुन ओर क्रण के बीच मे युद्ध हो तो मुझे स्वीकार है. वह कहता है की आइए ओर युद्ध करे. यह सुनकर अर्दुन क्रोधित हो कर धनुष्य उठा लेता है.


अगर आप राधा कृष्ण अर्जुन का था रोज देखते है तो हमारी website को folllow किजिए. Radhe Radhe...


Post a comment

0 Comments